वेट गेनर क्या है वेट गेनर के फायदे ओर नुकसान क्या है?

बॉडीबिल्डिंग में लोग कितनी भी मेहनत कर ले परंतु बिना डाइटिंग (Weight Gainer kya hota hai) के वे अपने वजन को नहीं बढ़ा सकते हैं क्योंकि बॉडी बिल्डिंग में आपकी एक्सरसाइज आपके मसल मास को बढ़ने में केवल 30% का योगदान देती है बाकी 70% का योगदान आपकी डाइट देती है।

Weight Gainer kya hota hai
Weight Gainer kya hota hai

इनमें से कुछ व्यक्तियों के साथ ऐसी स्थिति बन जाती है कि वह डाइटिंग और एक्सरसाइज दोनों ही नियमित रूप से करते हैं परंतु उनका मसल मास नहीं बढ़ता और इसी कारण से वे लोग वेट गेनर लेने की सोचने लगते हैं परंतु वेट गेनर के बारे में जानकारी प्राप्त नहीं करते हैं मेरा आपसे सिर्फ यह कहना है कि आप एक बार वेट गेनर लेने से पहले वेट गेनर के बारे में जान ले कि वेट गेनर क्या है और यह किस लिए काम आता है।

अगर आप फिटनेस में रुचि रखते हैं तो आपने वेट गेनर का नाम तो सुना ही होगा और हो सकता है आपने इसका इस्तेमाल भी कभी ना कभी तो किया होगा। जैसे कि इसके नाम से ही पता लग रहा है वजन बढ़ाने के लिए उपयुक्त पाउडर को ही वेट गेनर कहते हैं परंतु वेट गेनर के नुकसान और फायदे दोनों ही हैं अगर आपको यह सारी चीजें जानना है तो हमारे आर्टिकल को आगे पढ़ते रहिए।

आप हमारे Instagram Page – Bodybuilding_Hindi  को भी  Follow कर सकते है

Contents

वेट गेनर क्या है? | Weight Gainer Kya Hota Hai

वेट गेनर हमारे शरीर के वजन को बढ़ाने के लिए उपयोग किया जाने वाला सप्लीमेंट है जोकि खासकर जिम लवर्स के द्वारा उपयोग किया जाता है इसमें कार्बोहाइड्रेट,प्रोटीन और फैट तीनों ही उपलब्ध होते हैं परंतु इसमें सबसे ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा होती है ।

जिन लोगों का वेट नहीं बढ़ता है वे लोग इसका ज्यादा उपयोग करते हैं परंतु इसका ज्यादा इस्तेमाल भी आपके लिए हानिकारक हो सकता है इसीलिए आपको इसके फायदे और नुकसान दोनों की ही बारे में अच्छे से जान लेना चाहिए।

इसे जरूर पढे – भारत का सबसे अच्छा वेट गेनर सप्लीमेंट | Best Weight Gainer In Hindi

वेट गेनर के फायदे | Benefits Of Weight Gainer

(1) प्री वर्कऑउट मील के समय

वेट गेनर में आपको प्रचुर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट मिल जाता है जो कि आपको एनर्जी प्रदान करता है अगर आप प्री वर्कआउट में वेट गेनर को लेते हैं तो यह आपको आपके अच्छे वर्कआउट के लिए बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें आपको वर्कऑउट के लिए प्रचुर मात्रा कैलोरी प्राप्त हो जाती है।

(2) बजन बढ़ाने में

चूंकि इसमें कार्बोहाइड्रेट,प्रोटीन और फैट तीनों ही होते हैं है तो हम इसका इस्तेमाल वजन बढ़ाने के लिए भी कर सकते हैं।

(3) कैलोरी बढ़ाने मैं

वेट गेनर में भर भर की कैलोरी होती है और अगर हम अपनी कैलोरी को डाइट के माध्यम से नहीं ले पा रहे हैं तो हम अगर अपनी कैलोरी को बढ़ाना चाहे तो भी हम वेट गेनर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

(4) खनिज ओर विटामिन के लिए

वेट गेनर में खनिज और विटामिन की भरपूर मात्रा होती है इसको लेने से आपको खनिज और विटामिंस की कभी भी कमी नहीं हो सकती है।

इसे जरूर पढे – Whey Protein Kya Hai | Whey Protein Kaise Banta Hai

वेट गेनर के नुकसान | Weight Gainer Side Effects

(1) सांस से संबंधित समस्याएं

बहुत सारे फिटनेस एक्सपर्ट का मानना है कि वेट गेनर लेने से सांस से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं वेट गेनर के अधिक सेवन से छींक, खांसी,घबराहट और अस्थमा जैसी समस्याएं भी लोगों को हो सकती है। यदि आपको पहले से सांस लेने की समस्या है तो आपको वेट गेनर के इस्तेमाल से जरूर बचना चाहिए।

(2) किडनी की समस्या

वेट गेनर के अधिक इस्तेमाल से आपकी किडनी में भी समस्या हो सकती है क्योंकि इसका हाई कैलोरी पाउडर को किडनी द्वारा फिल्टर करने में बहुत समय लगता है और किडनी में समस्या भी हो सकती है।

(3) लिवर की समस्या

वजन बढ़ाने वाली पाउडर से आपके लीवर मैं भी समस्या आ सकती है साथ ही साथ जो लोग शराब का सेवन करते हैं उन्हें इस समस्या का ज्यादा असर होता है।

(4) शरीर की चर्बी बढ़ना

वेट गेनर कोई हेल्दी सप्लीमेंट नहीं है क्योंकि इसमें आपको प्रोटीन की मात्रा बहुत कम मिलती है और कार्बोहाइड्रेट बहुत की अधिक मात्रा में भरा हुआ होता है जिसके अधिक इस्तेमाल से हमारा शरीर कार्बोहाइड्रेट को फैट में बदलता है और इससे हमारे शरीर की चर्बी बढ़ती है और हमारा शरीर अनहेल्थी बनता है।

यह भी पढे –  Best Protein Powder In India

भारत के सबसे अच्छे वेट गेनर कौन से हैं? | India’s Best Mass Gainer

(1)Optimum Nutrition(On) Serious Mass High Protein

यदि आप वेट गेनर सप्लीमेंट के माध्यम से अपना वेट बढ़ाना चाहते हैं तो ON कंपनी का Serious Mass High Protein आपके लिए बेस्ट वेट गेनर मे से एक सप्लीमेंट है क्योंकि इसमें  कुछ ही हफ्तों बाद आपको रिजल्ट मिलने शुरू हो जाते हैं।

(2)Muscleblaze Super Gainer XXL

(3)Bigmuscles Nutrition Real Mass Gainer

(4)Labrada Muscle Mass Gainer

(5)Strava Nutrition Weight Gainer

व्हेय प्रोटीन और वेट गेनर में क्या फर्क है?

व्हेय प्रोटीन और वेट गेनर में जमीन आसमान का फर्क होता है क्योंकि वे प्रोटीन के न्यूट्रीशन और वेट गेनर की न्यूट्रीशन बिल्कुल अलग अलग होती हैं जहां वे प्रोटीन में प्रोटीन की मात्रा 95-98% तक होती है वही वेट गेनर में प्रोटीन की मात्रा 5% से 10% तक होती है।

क्या लीन मसल्स गेन करने के लिए वेट गेनर का इस्तेमाल करना चाहिए?

लीन मसल्स गैन करने के लिए आप वेट गेनर का इस्तेमाल नहीं कर सकते इसके लिए आपको प्योर व्हे प्रोटीन का इस्तेमाल करना पड़ेगा जो कि आपको 100% क्वालिटी व्हे प्रोटीन देगा।

क्या बॉडी बिल्डिंग में वेट गेनर इस्तेमाल करना चाहिए?

अगर आपको अपना वजन बढ़ाना है और आपको आपकी मसल को रिप्ड ओर लीन नही बनाना है तो आप निश्चित ही इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

क्या वेट गेनर लेना चाहिए?

अगर आप डाइट से अच्छा न्यूट्रीशन ले पा रहे हैं तो आपको वेट गेनर की ओर नहीं जाना चाहिए क्योंकि वेट गेनर से अच्छा और सस्ता न्यूट्रिशन आप डाइट से प्राप्त कर सकते हैं परंतु अगर आपके पास समय की कमी है और आप डाइट की ओर नहीं जा सकते तो आप निश्चित ही वेट गेनर ले सकते हैं परंतु इसे आपको किसी एक्सपर्ट की सलाह से लेना चाहिए।

इसे जरूर पढे –

बाइसेप्स कैसे बनाये? बाइसेप्स बनाने के उपाय ओर एक्सरसाइज क्या है?

कंधे को चौड़ा और मजबूत कैसे बनाए? बेस्ट 5 शोल्डर एक्सरसाइज।

सिक्स पैक एब्स कैसे बनाएं? सिक्स पैक एब्स के लिए आहार क्या है?

आशा करता हूं कि आप वेट गेनर के बारे में पूरी जानकारी जान गए होंगे और अगर आप भी वेट गेनर लेने के बारे में सोच रहे होंगे तो आपको भी सही फैसला लेने में मदद मिली होगी दोस्तों अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आया हो तो आप हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर भी कर सकते हैं और अगर आपको( Weight Gainer kya hota hai ) हमसे कोई सवाल का जवाब है तो आप हमें नीचे कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।

आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद।

Check Also

Health Kaise Banaye

अच्छी सेहत बनाने के 10 उपाय | मजबूत ओर स्वस्थ्य हैल्थ बनाएँ।

आज के समय में लोग कमाने के चक्कर में अपनी हेल्थ(Health Kaise Banaye) को अच्छा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *